माँ स्कंदमाता, माता के पंचम स्वरूप स्कंदमाता का महत्व और शक्तियां

माँ स्कंदमाता (Maa Skandmata), को माता दुर्गा के नौ रूपों में पांचवा स्वरूप माना जाता है। इसलिए स्कंदमाता को पांचवीं दुर्गा के रूप में पूजा जाता है, स्कंदमाता आरम्भ का प्रतीक है, ज्ञान और क्रिया का स्रोत है। स्कंद सही व्यावहारिक ज्ञान और क्रिया के एक साथ होने का प्रतीक है। स्कंद तत्व देवी का… Continue reading माँ स्कंदमाता, माता के पंचम स्वरूप स्कंदमाता का महत्व और शक्तियां