रामचरितमानस की चौपाई, रामचरितमानस के चमत्कारिक मंत्र

रामचरितमानस की चौपाई (Ramcharitmanas Ki Chaupaiyan), रामचरितमानस की कुछ चौपाइयां घर या नौकरी से जुड़ी कई परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए बड़ी असरदार मानी गई हैं। इन परेशानियों का सामना हर व्यक्ति दैनिक जीवन में करता है। रामचरित मानस की इन चौपाइयों को बोलने से पहले श्रीराम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान सहित राम दरबार की पूजा करें। यथासंभव शांत जगह व बनारस यानी काशी की ओर मुंह कर 108 बार बोलें, क्योंकि माना जाता है कि मानस स्वयं काशी विश्वनाथ द्वारा प्रमाणित की गई है। आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही चौपाइयों के बारे में जिनके जप से जीवन की कई समस्याएं दूर हो जाती हैं।

रामचरितमानस की चौपाई (Ramcharitmanas Ki Chaupaiyan)

रामचरितमानस की चौपाई (Ramcharitmanas Ki Chaupaiyan)

धन-दौलत, सम्पत्ति पाने व बढ़ाने के लिए –

जे सकाम नर सुनहि जे गावहि।
सुख संपत्ति नाना विधि पावहि।।

मनचाही नौकरी पाने या किसी भी कारोबार की सफलता के लिए –  

बिस्व भरण पोषन कर जोई।
ताकर नाम भरत जस होई।।

पुत्र पाने के लिए –

प्रेम मगन कौसल्या निसिदिन जात न जान।
सुत सनेह बस माता बालचरित कर गान।।

जहर उतारने के लिए –

नाम प्रभाउ जान सिव नीको।
कालकूट फलु दीन्ह अमी को।।

नजर उतारने के लिए –  

स्याम गौर सुंदर दोउ जोरी।
निरखहिं छबि जननीं तृन तोरी।।

शादी के लिए –

तब जनक पाइ वशिष्ठ आयसु ब्याह साजि संवारि कै।
मांडवी श्रुतकीरति उर्मिला, कुँअरि लई हँकारि कै॥

सिरदर्द या दिमाग की कोई भी परेशानी दूर करने के लिए 

हनुमान अंगद रन गाजे।
हाँक सुनत रजनीचर भाजे।।

पढ़ाई या किसी भी परीक्षा में कामयाबी के लिए-  

जेहि पर कृपा करहिं जनु जानी। कबि उर अजिर नचावहिं बानी॥
मोरि सुधारिहि सो सब भाँती। जासु कृपा नहिं कृपाँ अघाती॥

खोई वस्तु या व्यक्ति पाने के लिए- 

गई बहोर गरीब नेवाजू।
सरल सबल साहिब रघुराजू।।

हनुमानजी की कृपा के लिए – 

सुमिरि पवनसुत पावन नामू।
अपनें बस करि राखे रामू।।

सभी तरह के संकटनाश या भूत बाधा दूर करने के लिए – 

प्रनवउँ पवन कुमार, खल बन पावक ग्यान घन।
जासु ह्रदय आगार, बसहिं राम सर चाप धर॥

यह भी पढ़े –