मुनक्का खाने के फायदे, मुनक्का भिगोकर खाने के फायदे

मुनक्का खाने के फायदे (Munakka Khane Ke Fayde): मुनक्का क्षारीय होता है। एक बार पच जाने पर मुनक्का का पीएच स्तर 8.5 हो जाता है। आयुर्वेद में मुनक्का का इस्तेमाल सदियों से पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता रहा है, विज्ञान भी इसके फायदों को मान्यता देता है।

Munakka Khane Ke Faydeमुनक्का खाने के फायदे

मुनक्का खाने के फायदे
Munakka Khane Ke Fayde

सबसे पहले, आइए बात करते हैं कि मुनक्का किशमिश से कैसे भिन्न होता है ?

किशमिश छोटे, हल्के भूरे-पीले और खट्टे होते हैं, जबकि मुनक्का बड़े, गहरे भूरे और मीठे होते हैं। मुनक्का में बीज होते हैं, जबकि किशमिश में बीज नहीं होते। किशमिश अपने खट्टे स्वाद के कारण एसिडिटी पैदा कर सकती है।

मुनक्का, किशमिश से ज्यादा फायदेमंद होते हैं। अब जब आप मुनक्का और किशमिश के बीच का अंतर समझ गए हैं, तो चलिए मुनक्का के गुणों के बारे में बात करते हैं।

आयुर्वेद में मुनक्का पेट के लिए काफी फायदेमंद माने गए हैं। इसका प्रभाव ठंडा होता है, और यह फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट, रोगाणुरोधी गुणों के साथ-साथ जिंक और आयरन से भरपूर होता है।

जानें मुनक्का खाने का तरीका / मुनक्का भिगोकर खाने के फायदे

मुनक्के को गर्म पानी से धोकर रात भर के लिए भिगो दें। सुबह इसका पानी पी लें और मुनक्का  खा लें। इस तरह इसका नियमित सेवन करने से कमजोरी दूर होती है। रक्त और शक्ति में वृद्धि होती है। मुनक्का का भीगा हुआ पानी फेफड़ों को ताकत देता है,  कमजोर रोगियों को इसे नियमित रूप से देना चाहिए।

यह भी पढ़े – शुद्ध पानी किसे कहते हैं? शुद्ध पानी की जानकारी

मुनक्का के फायदे

1. पाचन में सुधार करता है

आयुर्वेद में मुनक्का का उपयोग केवल सुपाच्य के रूप में किया जाता है। मुनक्का में मौजूद फाइबर के कारण यह कब्ज से राहत दिलाता है।

कैसे करें इस्तेमाल :- 5 से 7 मुनक्का के बीज निकाल कर एक गिलास दूध में उबाल लें, इस दूध को रात को गुनगुना करके पिएं।

2. एसिडिटी से राहत

मुनक्के की तासीर ठंडी होती है, जिसके यह एसिडिटी के कारण होने वाली जलन को शांत करता है, और तुरंत राहत देता है।

कैसे करें इस्तेमाल :- एसिडिटी होने पर 4 मुनक्के को 10 मिनट के लिए पानी में भिगो दें। अब इन्हें चबाकर खा लें। आप चाहें तो इसे ठंडे दूध के साथ भी ले सकते हैं, जल्दी आराम मिलेगा। 

3. दिल की सेहत के लिए अच्छा

मुनक्का दिल की सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। मुनक्का में पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार होता है। इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है और हृदय को कई समस्याओं से बचाता है।

4. हड्डियों को मजबूत करता है

समय के साथ हड्डियां भी कमजोर होने लगती हैं और ऐसा कैल्शियम की कमी के कारण होता है। मुनक्के में कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है, साथ ही इसमें बोरॉन नामक तत्व भी पाया जाता है, जो कैल्शियम को हड्डियों तक पहुंचाने का काम करता है। अगर आप अपनी हड्डियों को लंबे समय तक मजबूत रखना चाहते हैं, तो आपको रोजाना किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए। महिलाओं को तो हर कीमत पर मुनक्का खाने चाहिए।

5. रक्तचाप को संतुलित रखता है

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन के मुताबिक मुनक्का खाने से खून में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। अगर आपका ब्लड प्रेशर लो रहता है तो मुनक्का आपके लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल – 5 से 8 मुनक्के रात को एक गिलास पानी में भिगो दें। सुबह इस पानी को पिएं और मुनक्के को चबाकर खाएं। इसे हर अगले दिन खाने से लो ब्लड प्रेशर की समस्या नियंत्रित हो जाएगी।

6. एनीमिया के लिए रामबाण है मुनक्का 

मुनक्के में आयरन होता है, जो रक्त में हीमोग्लोबिन बढ़ाता है। अधिक हीमोग्लोबिन का मतलब शरीर में अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति है। एनीमिया में मुनक्का खाना बहुत फायदेमंद होता है। महिलाओं को अपने आहार में मुनक्का जरूर शामिल करने चाहिए।

कैसे करें इस्तेमाल – इसके लिए भी आपको रात भर पानी में भिगोए हुए मुनक्का खाने हैं।

7. प्रेगनेंसी में मुनक्के के फायदे

गर्भावस्था के लिए मुनक्का या काली किशमिश के पानी का सेवन फायदेमंद होता है। 

8. चेहरे पर झुर्रियों को कम करता है

मुनक्के में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो त्वचा की झुर्रियों, महीन रेखाओं और पिग्मेंटेशन को दूर करते हैं। इसके लिए आप किशमिश का सेवन करने के साथ-साथ इसका फेस पैक भी बना सकते हैं।

कैसे इस्तेमाल करें :- मुनक्के का फेस पैक बनाने के लिए 10 से 12 किशमिश का पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट में एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट तक लगाने के बाद हल्के हाथों से मसाज करके इसे हटा दें और गुनगुने पानी से धो लें।

यह भी पढ़े – सेंधा नमक खाने के लाभ – जाने सेंधा नमक के सेवन के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ

मुनक्का के फायदे पुरुषों के लिए

1. रक्त और वीर्य बढ़ाता है

60 ग्राम मुनक्कों को धोकर भिगो दें। 12 घंटे बाद इन्हें खाएं। भीगें हुए मुनक्के पेट के रोगों को दूर कर खून और वीर्य को बढ़ाते है। इसको धीरे-धीरे बढ़ाकर दो सौ ग्राम किया जा सकता है। साल में तीन से चार किलोग्राम ऐसे ही मुनक्का खाने से बहुत लाभ होता है।

2. हाइड्रोसिल

अगर अंडकोष में पानी भर जाता है और वह बढ़ जाता है, तो नियमित रूप से किशमिश खाने से लाभ होता है।

यह भी पढ़े – अलसी के फायदे, आइये जाने अलसी के चमत्कारी उपयोग

इन रोगों में भी है लाभकारी

1. सिर का चक्कर के लिए मुनक्के के फायदे

20 ग्राम मुनक्का को घी में भूनकर सेंधा नमक मिलाकर सेवन करने से चक्कर आना बंद हो जाता है।

2. रक्त विकार में मुनक्के के फायदे

 20 ग्राम मुनक्का रात भर पानी में भिगो दें। सुबह इसे पीसकर एक कप पानी में घोलकर प्रतिदिन पीने से रक्त शुद्ध होता है।

3. चेचक में मुनक्के के फायदे

चेचक के रोगी को दो मुनक्का दिन में कई बार खिलाने से लाभ होता है।

4. खांसी में मुनक्के के फायदे

खांसी-जुकाम में मुनक्का फायदेमंद होता है। अगर आपको बार-बार ठंड लगती है, अगर यह ठीक नहीं होता है, तो 11 मुनक्का, 11 काली मिर्च, 5 बादाम भिगोकर छील लें। फिर इन सबको पीसकर 25 ग्राम मक्खन में मिलाकर रात को सोते समय खाएं। सुबह दूध में दो पीपल, 10 काली मिर्च, सोंठ डालकर उबाल लें। ऐसा कई महीनों तक करें। सर्दी हमेशा के लिए ठीक हो जाएगी।

5. भूख के लिए मुनक्के के फायदे

मुनक्का, नमक, काली मिर्च को मिलाकर गर्म करके सेवन करने से भूख बढ़ती है। पुराने ज्वर में भूख न लगने पर यह प्रयोग विशेष असरकारी होता है।

6. टीबी में मुनक्के के फायदे

मुनक्का, पीपल, देशी मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर एक-एक चम्मच सुबह-शाम सेवन करने से क्षय रोग (टीबी), सांस फूलना, खांसी ठीक हो जाती है।

इन बातों का रखें ध्यान

मुनक्के के फायदे के साथ-साथ इसके साइड इफेक्ट का भी ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

  • अगर आपका ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो अपने डॉक्टर से मुनक्के की डोज के बारे में पूछें।
  • बहुत सारे मुनक्का खाने से दस्त हो सकते हैं, इसलिए रोजाना मुनक्का दूध का सेवन न करें।
  • यदि कोई स्त्री स्तनपान करा रही हैं, तो मुनक्का खाने से पहले उन्हें अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह ले लेना चाहिए।

यह भी पढ़े – आयुर्वेद एक समग्र चिकित्सा, आयुर्वेद योग व पंचकर्म | आयुर्वेद पर लेख

अस्वीकरण – लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य के लिए हैं। 17Passion.com इसकी पुष्टि नहीं करता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले, कृपया संबंधित विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लें।