मेलाकाइट रत्न, सौभाग्य प्रदाता नग है दाना-ए-फिरंग 

मेलाकाइट रत्न (Malachite stone), मूल्यवान रत्नों की तरह अर्द्ध-मूल्यवान रत्न भी बहुत हैं। इनमें से कुछ रत्नों को विभिन्न रोगों के निवारण के लिए प्रयोग किया जाता है। मेलाकाइट (Malachite gemstone) यानी दाना-ए-फिरंग भी ऐसा ही एक नग है। 

मेलाकाइट रत्न (Malachite stone)

Malachite stone

मेलाकाइट यानी दाना-ए-फिरंग हल्के हरे रंग का हरी धारियों वाला आकर्षक नग है, जिसे किडनी के की व्याधियों को दूर करने के लिए पहना जाता है। यह किडनी के सभी प्रकार के रोगों को ठीक करता है तथा स्वास्थ्य अच्छा रखता है। 

इसलिए इसे किडनी स्टोन के नाम से भी जानते हैं। इस नग पर बुध और शुक्र ग्रह का स्वामित्व है, इसलिए इसको इन ग्रहों के लिए भी धारण किया जाता है। यही नहीं यह बच्चों में होने वाली बीमारियों को भी दूर करता है। 

किन रोगों में है फायदेमंद 

प्राचीन मिस्र, यूनानी और रोमन इस नग का इस्तेमाल आभूषणों के लिए करते हैं। कहा जाता है कि इस नग को   धारण करने से अच्छी नींद आती है। प्रेम विवाह में यदि एक साथी दूसरे को यह नग भेट करें तो धारणकर्ता स्त्री हो या पुरुष कभी अपना मन नहीं बदलेगा। यह उसके दिमाग को सदा ही स्थिर रखेगा। 

यह नग बुरी आत्माओं से भी छुटकारा दिलाता है। बुरी नजर के प्रभावों को भी पास नहीं फटकने देता। बच्चों के गले में पहनाने से उनको नजर नहीं लगती। इसके अलावा मेलाकाइट पाचन ग्रंथि, अस्थमा, मासिक धर्म संबंधी रोगों, नेत्र विकार, हैजा आदि से संबंधित कठिनाइयों को भी दूर करता है। 

यह एक सौभाग्य प्रदाता नग है। इसमें फीके हरे रंग से लेकर गहरे श्यामल हरे रंग की परते या धारियां होती हैं। अभिव्यक्ति क्षमता, धैर्य, शारीरिक सहनशीलता, आंतरिक शांति, अंतर्ज्ञान शक्ति, भावनात्मक स्पष्टता और नींद में वृद्धि भी करता है। 

इस नग का प्रयोग शारीरिक और मानसिक विकारों के उपचार के लिए किया जाता है। जैसे- तनाव, मानसिक उद्विग्नता आदि को भी दूर करता है। 

हृदय, रक्त संचार प्रणाली, पीनियल, दांतों के विकारों को भी दूर कर उन्हें सुव्यवस्थित बनाए रखता है। (malachite and azurite) यह एजुराइट नग के साथ अच्छा प्रभाव देता है। 

जब कभी भी आपके ऊपर विपदा वाली होती है, यह उससे पहले ही खुद टूट जाता है। इसे एक चेतावनी समझना चाहिए। विशेष फल के लिए इसे बाएं हाथ की उंगली में पहनना चाहिए। 

बच्चों के लिए भी फायदेमंद 

इसके अलावा यह बच्चों को होने वाली आम बीमारियों को भी दूर करती है। मेलाकाइट को बच्चों के लिए शक्तिशाली सुरक्षा कवच माना गया है। यह दुर्घटनाओं और सफर में यात्रियों की रक्षा करना है। व्यवसाय में सफलता पाने के लिए यह कारगर है। 

इन्हें भी जानें 

यह हमेशा हरे रंग में मिलता है। यूनानी इसका आंखों की छाया के लिए भी इस्तेमाल करते थे। दु:स्वप्नों से बचाव के लिए इसे शयनकक्ष में रखना चाहिए। चूंकि इसमें तांबे की मात्रा बहुत अधिक होती है। अतः इसे कभी आंतरिक रूप से ग्रहण नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.