अलसी के फायदे। अलसी के चमत्कारी उपयोग

अलसी के फायदेअलसी के चमत्कारी उपयोग, flax seeds in hindi, अलसी(flax seeds) इन हिंदी, क्या आपको यह जानकारी है कि जितना अलसी के फायदे पुरुषों के लिए है उतना ही महिलाओं के लिए अलसी के फायदे है और कोलेस्ट्रॉल में अलसी के फायदे लाजवाब है, जिस अलसी के बीज को आप सभी केवल खाद्य पदार्थ के रूप में इस्तेमाल करते हैं, उससे रोगों का इलाज भी हो सकता है? जी हां, अलसी के फायदे और भी हैं।

अलसी के फायदे। अलसी के चमत्कारी उपयोग

अलसी के फायदे। अलसी के चमत्कारी उपयोग
अलसी के फायदे। flax seeds इन हिंदी

अलसी क्या है?

अलसी एक जड़ी बूटी है। इसके बीज रंग, रूप और आकार में भिन्न भिन्न होते हैं, देशभर में अलसी के बीज कई रंगों में पाए जाते हैं। सफेद, पीले, लाल, थोड़े काले रंग के होते हैं। अक्सर अलसी गर्म प्रदेशों में अच्छी क्वालिटी की मिलती है। इसका उपयोग बीज और तेल के रूप में होता है।

अलसी का हिंदी नाम, अलसी का दूसरा नाम, तीसी है। तीसी का वानस्पतिक नाम लाइनम यूसीटैटीसिमम (Linum usitatissimum L., Syn-Linum humile Mill., है, और यह लाइनेसी (Linaceae) कुल की है।

अलसी (flax seeds) में क्या-क्या पाया जाता है?

पोषक तत्वमात्रा
प्रोटीन1.28 ग्राम
 फैट2.95 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट2.02 ग्राम 
फाइबर1.91 ग्राम 
 कैल्शियम17.8 मि.ग्रा
मैग्नीशियम27.4 मि.ग्रा
फास्फोरस44.9 मि.ग्रा
पोटेशियम56.9 मि.ग्रा
फोलेट6.09 माइक्रोग्राम
ल्‍यूटिन और जीएक्‍सेंथिन45.6 माइक्रोग्राम
पिसी हुई 7 ग्राम अलसी में उपरोक्त पोषक तत्व पाए जाते है।

अलसी के बीज (flax seeds) के फायदे

इसका नियमित सेवन करके कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता हैं। मोटापे से परेशान लोगों के लिए अलसी बेहद लाभकारी हो सकती है, क्योंकि वजन घटाने में अलसी बहुत सहायक है। अलसी के छोटे-छोटे बीजों (flax seeds) में सेहत का खजाना छिपा हुआ है। 

इसका सेवन सभी लोग कर सकते हैं, अलसी के बीज दिल के लिए भी फायदेमंद होते हैं। वे लोग सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें, जो किसी भी तरह की शारीरिक समस्या से जूझ रहे हैं।

अलसी खाने के फायदे / अलसी के चमत्कार (benefits of flax seeds)

ब्लड कोलेस्ट्रॉल के नियंत्रण में सहायक 

अध्ययन के अनुसार अलसी में हाई फाइबर और लिगनेन कंटेंट होता है जिसे रोजाना खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल का लेवल 6 से 11 प्रतिशत तक कम हो सकता है।

हृदय रोग कम करने में मददगार

अलसी के बीज टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes), हृदय रोग (Heart Disease) और कैंसर (Cancer) के खतरे को भी कम करने में मदद करते हैं। 

कामोत्तेजना बढ़ाने में अलसी से लाभ 

आज की तनाव भरी दिनचर्या में अनेक लोग वीर्य, या धातु रोग से पीड़ित रहते हैं। जिससे लोगों की शिकायत होती है कि उनकी सेक्स करने की ताकत में कमी आ गई है। काली मिर्च और शहद के साथ अलसी के सेवन से इन सभी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। इससे सेक्स करने की ताकत बढ़ती है, और वीर्य दोष भी दूर होता है।

सुजाक में अलसी के तेल से लाभ

अलसी के औषधीय गुण का प्रयोग सुजाक को भी ठीक कर सकता है। इसके लिए अलसी के तेल की 4-6 बूंदों को मूत्रेन्द्रिय (योनि) में डालें। और फिर लाभ अपने आप दिख जायेगा।

बवासीर में अलसी के तेल का लाभ 

अगर कब्ज नहीं रहेगा तो बवासीर में बहुत अधिक लाभ मिलता है, जिसके के लिए आपको 5-7 मि.ली अलसी के तेल का सेवन करना पड़ेगा, इससे कब्ज ठीक होगा, और बवासीर में लाभ मिलेगा।

पाचन शक्ति को दुरुस्त करने में सहायक 

अलसी कई गुणों से भरपूर है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। यही वजह है कि अलसी के बीज पाचन को बेहतर बनाते हैं, जो पाचनशक्ति को बढ़ाकर कब्ज की समस्या को दूर करता है।

त्वचा को सुन्दर बनाये 

अलसी त्वचा को जवां और तरोताज़ा बनाये रखने में मदद करती है क्योकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल्स के गुण पाए जाते हैं। जिससे त्वचा चमकदार और झुर्रियों की समस्या को समाप्त करने में मदद मिलती है।

जमीन अलसी क्या है?

पिसे हुए अलसी के बीज को जमीन अलसी (Ground Flaxseed) कहते है।

 अलसी को कैसे खाएं / अलसी के सेवन का सही तरीका

अलसी के बीज को पीसकर (Ground Flaxseed) खाना ज्यादा हितकर होता है। क्योंकि साबुत अलसी के ठोस कवर की  वजह से आंत उसे अच्छे से पचा नहीं पाती है, जिससे अलसी के पोषक तत्वों को शरीर अवशोषित नहीं कर पाता है। इसलिए वैध अलसी को पीसकर खाने की सलाह देते है।

अलसी कब खाएं 

अलसी को रात में सोने से पहले खाने से नींद बहुत अच्छी आती है। हालांकि इसका सेवन आप खाली पेट भी कर सकते हैं।

अलसी की कितनी मात्रा का उपयोग करना चाहिए 

 अलसी के चूर्ण का सेवन 2-5 ग्राम अथवा चिकित्सक के परामर्श के अनुसार करें।

यह भी पढ़े –